Israel Hamas War Sharad Pawar Slams Nitin Gadkari Piyush Goyal And Appraise PM Modi | फलस्तीन पर बयान को लेकर नितिन गडकरी और पीयूष गोयल ने घेरा तो शरद पवार बोले

Date:


Sharad Pawar On Piyush Goyal: इजरायल और फलस्तीन के चरमपंथी संगठन हमास के बीच चल रही जंग को लेकर देश में बयानबाजी जारी है. मामले को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के चीफ शरद पवार के रुख पर बीजेपी ने हमला किया तो उन्होंने शुक्रवार (20 अक्टूबर) को पलटवार किया. 

पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार ने सोशल मीडिया एक्स पर बयान शेयर करते हुए इसमें केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की टिप्पणी का जिक्र किया है.

उन्होंने कहा कि इजरायल-फलस्तीन पर उनकी टिप्पणी को लेकर जिन बीजेपी नेताओं ने उनकी आलोचना की थी वो राजा के प्रति ज्यादा वफादार हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फलस्तीन को सहायता जारी रखने वाले बयान का स्वागत करते हुए उनकी सराहना की. 

शरद पवार ने क्या कहा?
पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार ने कहा, ”मैंने पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू से लेकर अटल बिहारी वाजपेयी तक की इजरायल और फलस्तीन के मुद्दे पर रखी राय जैसे विचार दिए थे. ये लोग विवाद का शांतिपूर्ण तरीके से समाधान चाहते थे. इजरायल और फलस्तीन एक-दूसरे के पड़ोसी के रूप में शांति और सद्भाव से रह सकें. मैं इजरायल-फलस्तीन मुद्दे पर भारत के पिछले प्रधानमंत्रियों के अपनाए गए रुख का समर्थन करने के लिए पीएम मोदी की सराहना करता हूं.”

उन्होंने कहा मुझे उम्मीद है कि जिन बीजेपी नेताओं ने मेरे बयान को गलत समझा वे ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर देश के रुख को समझेंगे. 

पीएम मोदी ने क्या कहा है?
पीएम मोदी ने गुरुवार (19 अक्टूबर) को कहा, ”फलस्तीन प्राधिकरण के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ बातचीत की. इस दौरान मैंने गाजा के अल अहली अस्पताल में नागरिकों की मौत पर अपनी संवेदना व्यक्त की. हम फलस्तीन के लोगों के लिए मानवीय सहायता भेजना जारी रखेंगे. हमने क्षेत्र में आतंकवाद, हिंसा और बिगड़ती सुरक्षा स्थिति पर अपनी गहरी चिंता साझा की है. हमने इजरायल-फलस्तीन मुद्दे पर भारत की लंबे समय से चली आ रही सैद्धांतिक स्थिति को दोहराया.”

पीयूष गोयल और हिमंत बिस्व सरमा ने क्या कहा था?
पीयूष गोयल ने हाल ही में सोशल मीडिया एक्स पर लिखा, ”ये बहुत परेशान करने वाला है कि शरद पवार जैसे वरिष्ठ नेता इजरायल पर हुए आतंकी हमले पर भारत के रुख को लेकर बेतुके बयान देते हैं. दुनिया के किसी भी हिस्से में आतंकवाद के खतरे की सभी रूपों में निंदा की जानी चाहिए. यह अफसोस की बात है कि वो व्यक्ति (शरद पवार) जो देश के रक्षा मंत्री और कई बार मुख्यमंत्री रहे हैं वो आतंक से जुड़े मामले में इतना अनौपचारिक दृष्टिकोण रखते हैं.”

वहीं हिमंत बिस्व सरमा ने कहा था कि मुझे लगता है कि शरद पवार को सुप्रिया सुले को गाजा में हमास से लड़ाई करने के लिए भेज देना चाहिए. 

ये भी पढ़ें- Israel Hamas War: इजरायली पुलिस को अब केरल से नहीं मिलेगी वर्दी, मंत्री ने किया बड़ा ऐलान




Nilesh Desai
Nilesh Desaihttps://www.TheNileshDesai.com
The Hindu Patrika is founded in 2016 by Mr. Nilesh Desai. This website is providing news and information mainly related to Hinduism. We appreciate if you send News, information or suggestion.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related