IMD Warned predicted India will suffer extreme heatwave between April to June amid Lok Sabha Election 2024

Date:


Lok Sabha Elections 2024: भारत मौसम व‍िज्ञान व‍िभाग की ओर से सोमवार (1 अप्रैल, 2024) को चेतावनी जारी की है क‍ि देश में अप्रैल से जून माह के बीच में भीषण गर्मी पड़ेगी. इस भीषण गर्मी की चपेट में सबसे ज्‍यादा मध्य और पश्चिमी क्षेत्रों के प्रभावित होने की प्रबल संभावना है.

Lok Sabha Elections 2024: भारत मौसम व‍िज्ञान व‍िभाग की ओर से सोमवार (1 अप्रैल, 2024) को चेतावनी जारी की है क‍ि देश में अप्रैल से जून माह के बीच में भीषण गर्मी पड़ेगी. इस भीषण गर्मी की चपेट में सबसे ज्‍यादा मध्य और पश्चिमी क्षेत्रों के प्रभावित होने की प्रबल संभावना है.

आईएमडी की ओर से जारी अध‍िकार‍िक बयान में यह भी पूर्वानुमान जताया है क‍ि तीन माह के दौरान तो जबर्दस्‍त गर्मी से जूझना पड़ेगा ही. वहीं, अप्रैल माह भी कम गर्मी नहीं होगी. मौसम व‍िभाग ने संभावना जताई है क‍ि अप्रैल माह के दौरान देश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की अनुमान है.

आईएमडी की ओर से जारी अध‍िकार‍िक बयान में यह भी पूर्वानुमान जताया है क‍ि तीन माह के दौरान तो जबर्दस्‍त गर्मी से जूझना पड़ेगा ही. वहीं, अप्रैल माह भी कम गर्मी नहीं होगी. मौसम व‍िभाग ने संभावना जताई है क‍ि अप्रैल माह के दौरान देश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की अनुमान है.

केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री किरेन रिजिजू ने स्‍टैकहोल्‍डर्स से आग्रह किया है क‍ि 'एक्‍सट्रीम वेदर' और लोकसभा चुनाव की तारीखों के एक साथ होने की वजह से इससे न‍िपटने के ल‍िए पहले से ही एहतियाती कदम उठाए जाएं. भारत में लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से 1 जून के बीच सात चरणों में होंगे. इन सभी चुनावों के पर‍िणाम 4 जून, 2024 को घोष‍ित क‍िए जाएंगे.

केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री किरेन रिजिजू ने स्‍टैकहोल्‍डर्स से आग्रह किया है क‍ि ‘एक्‍सट्रीम वेदर’ और लोकसभा चुनाव की तारीखों के एक साथ होने की वजह से इससे न‍िपटने के ल‍िए पहले से ही एहतियाती कदम उठाए जाएं. भारत में लोकसभा चुनाव 19 अप्रैल से 1 जून के बीच सात चरणों में होंगे. इन सभी चुनावों के पर‍िणाम 4 जून, 2024 को घोष‍ित क‍िए जाएंगे.

मंत्री ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान कहा क‍ि भारत दुन‍िया का सबसे घनी आबादी वाला देश है. इस वजह से हम मौसम की भीषण स्‍थ‍ित‍ि से भी सबसे ज्‍यादा जूझते हैं. इसल‍िए आने वाला समय मौसम के लि‍हाज से बड़ी चुनौतीभरा हो सकता है. इस सभी को ध्‍यान में रखते हुए हमें पहले से तैयारी करना बेहद जरूरी होता है.

मंत्री ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान कहा क‍ि भारत दुन‍िया का सबसे घनी आबादी वाला देश है. इस वजह से हम मौसम की भीषण स्‍थ‍ित‍ि से भी सबसे ज्‍यादा जूझते हैं. इसल‍िए आने वाला समय मौसम के लि‍हाज से बड़ी चुनौतीभरा हो सकता है. इस सभी को ध्‍यान में रखते हुए हमें पहले से तैयारी करना बेहद जरूरी होता है.

क‍िरेन र‍िजिजू ने कहा कि मौसम व‍िभाग के मुताब‍िक अगले ढाई माह के दौरान ज्‍यादा गर्मी होने का अनुमान है. यह अनुमान भारत में होने वाले आम चुनावों के साथ भी मेल खाता है. इस चुनाव में देश के करीब एक अरब लोगों के अपने वोट का प्रयोग करने की उम्‍मीद है.

क‍िरेन र‍िजिजू ने कहा कि मौसम व‍िभाग के मुताब‍िक अगले ढाई माह के दौरान ज्‍यादा गर्मी होने का अनुमान है. यह अनुमान भारत में होने वाले आम चुनावों के साथ भी मेल खाता है. इस चुनाव में देश के करीब एक अरब लोगों के अपने वोट का प्रयोग करने की उम्‍मीद है.

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र का भी कहना है क‍ि देश के अधिकांश हिस्सों में अप्रैल और जून के बीच अधिकतम तापमान के सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है. इसका सबसे ज्‍यादा असर मध्य और पश्चिमी प्रायद्वीप के ह‍िस्‍सों में देखने को मिल सकता है.

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र का भी कहना है क‍ि देश के अधिकांश हिस्सों में अप्रैल और जून के बीच अधिकतम तापमान के सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है. इसका सबसे ज्‍यादा असर मध्य और पश्चिमी प्रायद्वीप के ह‍िस्‍सों में देखने को मिल सकता है.

महापात्र ने इस बात पर भी बल द‍िया क‍ि अक्‍सर लू का प्रकोप 8-10 दिनों तक रहता है, लेकिन इस बार इसके सामान्य से अधिक समय तक टिकने रहने की संभावना है.

महापात्र ने इस बात पर भी बल द‍िया क‍ि अक्‍सर लू का प्रकोप 8-10 दिनों तक रहता है, लेकिन इस बार इसके सामान्य से अधिक समय तक टिकने रहने की संभावना है.

मौसम व‍िभाग का अनुमान है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा में अप्रैल, मई और जून में लू का प्रकोप रहेगा. इन राज्‍यों में लोगों को इस बार ज्‍यादा समय तक इसको झेलना पड़ सकता है.

मौसम व‍िभाग का अनुमान है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा में अप्रैल, मई और जून में लू का प्रकोप रहेगा. इन राज्‍यों में लोगों को इस बार ज्‍यादा समय तक इसको झेलना पड़ सकता है.

आईएमडी ने यह भी अनुमान जताया है क‍ि अप्रैल से जून माह के दौरान दक्षिण प्रायद्वीप, मध्य भारत, पूर्वी भारत और उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक गर्मी वाले दिन होने की संभावना है.

आईएमडी ने यह भी अनुमान जताया है क‍ि अप्रैल से जून माह के दौरान दक्षिण प्रायद्वीप, मध्य भारत, पूर्वी भारत और उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक गर्मी वाले दिन होने की संभावना है.

Published at : 01 Apr 2024 09:21 PM (IST)

इंडिया फोटो गैलरी

इंडिया वेब स्टोरीज


Nilesh Desai
Nilesh Desaihttps://www.TheNileshDesai.com
The Hindu Patrika is founded in 2016 by Mr. Nilesh Desai. This website is providing news and information mainly related to Hinduism. We appreciate if you send News, information or suggestion.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related