Heat Wave: जम्मू-कश्मीर में आसमान से बरस रही आग, घूमने जा रहे हैं तो हो जाएं सावधान; IMD ने 7 दिनों के लिए जारी किया अलर्ट

Date:



<p model=(*7*)><robust>Heat wave:</robust> मौसम विभाग (आईएमडी) ने सोमवार (27 मई) को भारत के उत्तरी भाग के लिए हीटवेव "रेड अलर्ट" जारी किया है. वहीं, पूरे जम्मू-कश्मीर में लू की स्थिति जारी है और ज्यादातर इलाकों में तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया जा रहा है. ऐसे में श्रीनगर में सोमवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा है.</p>
<p model=(*7*)>दरअसल, साल 2014 के बाद से पिछला उच्चतम तापमान 22 मई 2016 को 31.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जबकि 24 मई 1968 को सबसे ज्यादा तापमान 36.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था. इसके अलावा 33.6 डिग्री सेल्सियस पर, काजीगुंड में 43 सालों में सबसे ज्यादा तापमान का रिकॉर्ड भी टूट गया. यहां 31 मई 1988 में 33.5 डिग्री सेल्सियस का उच्चतम तापमान दर्ज किया गया था.</p>
<p class="Article_headline__wsIqc" model=(*7*)><robust>1968 के बाद पहली बार हुई रिकॉर्ड तोड़ गर्मी</robust></p>
<p model=(*7*)>जम्मू-कश्मीर में मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मुख़्तार अहमद ने कहा कि कश्मीर घाटी में गर्मी का असर फिलहाल बढ़ता ही रहेगा. उन्होंने कहा कि 1968 के बाद यह पहली बार है कि मई के महीने में इतनी ज्यादा गर्मी पड़ रही है. उन्होंने कहा कि भीषण गर्मी के कारण कई हादसे भी होने लगे है, जिनमें हिमस्खलन और कश्मीर के ऊपरी इलाकों में ग्लेशियर भी तेजी से पिघलने के कारण अलर्ट जारी कर दिया गया है. खास तोर पर ऐसे इलाकों में जहां बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं.</p>
<p class="jsx-4105789289" model=(*7*)><robust>तेजी से पिघल रहे ग्लेशियर</robust></p>
<p model=(*7*)>वहीं, इस रविवार को महाराष्ट्र का एक पर्यटक जोड़ा थाजवास इलाके में ग्लेशियर में गिर गया, जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दूसरे को बचा लिया गया. यह घटना ग्लेशियर के बीच में टूटने के से घटी जिसके पीछे गर्मी को ही कारण माना जा रहा है. आमतौर पर ग्लेशियर जून-जुलाई के महीने में पिघलना शुरू हो जाते हैं, लेकिन इस साल गर्मी जल्दी आने के कारण कई ग्लेशियर तेजी से पिघलने लगे हैं.</p>
<p model=(*7*)><robust>बढ़ेगा गर्मी का सितम</robust></p>
<p model=(*7*)>मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में 28 मई तक "हीटवेव से गंभीर हीटवेव" की स्थिति का अनुभव होने के आसार जताए गए है. इसके अलावा आईएमडी ने जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में हीटवेव की स्थिति के लिए ‘यलो’ अलर्ट भी जारी किया है.</p>
<p model=(*7*)><robust>जम्मू-कश्मीर में 3 जून से लू चलने के हैं आसार- IMD</robust></p>
<p model=(*7*)>श्रीनगर में मौसम विभाग ने एक सलाह जारी करते हुए कहा है कि अगले 7 दिनों के दौरान जम्मू डिवीजन और कश्मीर घाटी के मैदानी इलाकों में लू, गर्मी और शुष्क मौसम की स्थिति में कोई राहत नहीं मिलेगी. ऐसे में बुरी खबर यह है कि जम्मू-कश्मीर में 3 जून से लू चलने की संभावना जताई जा रही है.</p>
<p model=(*7*)><robust>ये भी पढ़ें: <a title="अखिलेश यादव और राहुल गांधी की पार्टी को मिल रही कितनी सीटें? अमित शाह ने कर दी भविष्यवाणी" href="https://www.abplive.com/news/india/amit-shah-prediction-over-lok-sabha-election-says-rahul-gandhi-will-not-win-40-and-akhilesh-will-not-get-4-seats-2699990" goal="_self">अखिलेश यादव और राहुल गांधी की पार्टी को मिल रही कितनी सीटें? अमित शाह ने कर दी भविष्यवाणी</a></robust></p>


Nilesh Desai
Nilesh Desaihttps://www.TheNileshDesai.com
The Hindu Patrika is founded in 2016 by Mr. Nilesh Desai. This website is providing news and information mainly related to Hinduism. We appreciate if you send News, information or suggestion.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

Popular

More like this
Related