हांगकांग में लाखों लोगों पर बर्बर दमन की तैयारी में चीन, सैकड़ों बख्तरबंद गाड़ियां तैनात

0
11

नई दिल्लीः एक तरफ जहां चीन कश्मीर मसले पर ‘चौधरी’ बनने की कोशिश कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ हांगकांग में पिछले करीब 3 महीने से प्रदर्शन कर रहे लाखों लोगों पर बर्बर दमन की तैयारी में है. चीन ने हांगकांग की सीमा को सील कर उसके नजदीक अपनी सैकड़ों बख्तरबंद गाड़ियों को खड़ा कर दिया है. साथ ही साथ सेना का मार्च कराकर प्रदर्शनकारियों को जल्द से जल्द प्रदर्शन खत्म करने नहीं तो उन्हें निशाना बनाए जाने की भी धमकी दी है. चीनी सैनिकों की इस परेड को हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों से जोड़कर देखा जा रहा है.

हांगकांग की सीमा से सटे शेनजेन में चीनी आर्मी प्रदर्शनकारियों को डराने की पूरी कोशिश कर रही है. ये उसी चीन की दोहरी नीति है, जो कश्मीर मसले पर UNSC में पाकिस्तान की पैरोकारी करने की बात कर रहा है. हांगकांग की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे लोगों को डराने के लिए चीन ने शेनझेन शहर के एक बड़े स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में गुरुवार को हजारों चीनी सैनिकों ने परेड कराई और इस दौरान कई बख्तरबंद वाहन भी देखे गए, जो कि आतंकी हमलों से निपटने के लिए गठित चीन के विशेष सुरक्षा बल पीपुल्स आ‌र्म्ड पुलिस के जवानों के साथ थे.

प्रदर्शन के चलते हांगकांग हवाईअड्डे से उड़ानें निलंबित, जो हवा में हैं, उन्हें उतरने की इजाजत

देखें लाइव टीवी

कश्‍मीर मुद्दे पर UNSC की अनौपचारिक बैठक आज, बंद कमरे में होगी चर्चा, भारत के पक्ष हैं ज्‍यादातर देश

हालांकि हांगकांग के मसले पर चीन चाहे कितना भी पैंतरे आजमा ले, लेकिन संयुक्त राष्ट्र में उसे जरूर किरकिरी का सामना करना पड़ सकता है. सूत्रों के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र ने हांगकांग के मसले को लेकर अहम बैठक बुलाने का फैसला किया है. क्योंकि चीन की धमकी ने थियानमेन चौक पर 30 साल पहले चीन की ओर से किए गए बर्बर नरसंहार को दोहराए जाने की चिंताएं बढ़ा दी हैं. बता दें थियानमेन चौक नरसहांर में हजारों लोकतंत्र समर्थकों की जान चली गई थी, तो वहीं कई गंभीर रूप से घायल भी हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here