#ZeeMahaExitPoll: पीएम मोदी के 5 महीने के कामकाज पर मुहर, सोनिया की अगुवाई से कांग्रेस को फायदा नहीं

0
10

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा की सीटों के लिए मतदान सोमवार 21 अक्टूबर को हो चुका है. अब जनता का फैसला ईवीएम मशीन में बंद हैं और नतीजे 24 अक्टूबर को सामने आएंगे. लेकिन नतीजों से पहले आए एक्जिट पोल (Exit Poll) के नतीजों ने एक बार फिर दोनों राज्यों बीजेपी की प्रचंड वापसी होती दिख रही है. एक्जिट पोल के नतीजों के मुताबिक महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस एक बार फिर सीएम बनेंगे और हरियाणा की पगड़ी एक बार फिर मनोहर लाल खट्टर के माथे सजेगी.


फाइल फोटो- ANI

ज़ी न्यूज़ ने सभी न्यूज़ चैनलों पर हुए एक्जिट पोल के आंकड़ों के आधार पर जो सीटों की औसत संख्या का अनुपात लगाया है उस #ZeeMahaExitPoll की 10 बड़ी बातें हम आपको बताते हैं. 

  1. महाराष्ट्र, हरियाणा में दो तिहाई बहुमत के साथ बीजेपी की बंपर वापसी
  2. महाराष्ट्र, हरियाणा में 2014 के मुकाबले बीजेपी को ज्यादा सीटें
  3. दोनों राज्यों के रुझान मोदी सरकार के 5 महीनों के कामकाज पर मुहर
  4. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का बीजेपी को फायदा
  5. मोदी का फड़णवीस और मनोहर मॉडल कामयाब रहा
  6. मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर फड़णवीस और मनोहर लाल पर भरोसा
  7. विपक्ष की नकारात्मक राजनीति को जनता ने नकारा
  8. विपक्ष में लगातार आपसी खींचतान से जनता परेशान
  9. सोनिया गांधी की अगुवाई से भी कांग्रेस को फायदा नहीं
  10. विपक्ष की धार्मिक ध्रुवीकरण की कोशिश बेकार 

महाराष्‍ट्र:
ABP-C Voter के EXIT POLL में महाराष्‍ट्र की 288 सीटों में से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को 204 सीटें मिलने की संभावना बताई गई है. इसी तरह कांग्रेस-शिवसेना गठबंधन को 69 और अन्‍य को 15 सीटें मिलने की संभावना बताई गई है.

यह भी पढ़ेंः #ZeeMahaExitPoll : महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना की बंपर जीत, 204 सीटें मिलने का अनुमान

R.भारत-जन की बात के सर्वे में बीजेपी+ को 223 सीटें, कांग्रेस+ को 55 सीटें और अन्‍य को जीरो सीटें मिलने का अनुमान व्‍यक्‍त किया है. इसी तरह Aaj-Tak Axis सर्वे में बीजेपी+ को 180, कांग्रेस+ को 81 और अन्‍य को 27 सीटें मिलने का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है. News18-IPSOS के मुताबिक बीजेपी+ को 243, कांग्रेस+ को 41 और अन्‍य को 3 सीटें मिलने की संभावना है.

हरियाणा
#ZeeMahaExitPoll के मुताबिक हरियाणा की 90 सीटों में से बीजेपी को 67 सीटें मिल सकती हैं. वहीं कांग्रेस को 12 और अन्‍य को 11 सीटें मिलने का अनुमान है. उल्‍लेखनीय है कि बीजेपी ने इस बार चुनावों में 75 पार का नारा दिया था. कांग्रेस ने भी बेहतर परिणामों की आस में चुनाव के ऐन पहले अपने कुनबे के किले को दुरस्‍त करते हुए चुनावी कमान भूपिंदर सिंह हुड्डा को सौंप दी. नतीजतन अशोक तंवर ने पार्टी छोड़ दी. मुख्‍य विपक्षी दल इनेलो की अंदरूनी फूट के कारण दुष्‍यंत चौटाला की नई पार्टी जेजेपी मैदान में आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here