ZEE जानकारी: आपके पैदल चलने से आ सकता है देश की अर्थव्यस्था में सुधार

0
12

दर्द और गुस्से की तस्वीरें देखने के बाद अब आपको स्वास्थ्य से जुड़ी एक खबर देखनी चाहिए. अगर हम आपसे कहें कि आपके पैदल चलने से देश की अर्थव्यस्था में सुधार आ सकता है…तो आप शायद यकीन नहीं करेंगे. लेकिन ये सच है.

ब्रिटेन के एक Research Institute द्वारा की गई Study के अनुसार, रोजाना सिर्फ 15 मिनट Extra पैदल चलने से…या प्रतिदिन एक किलोमीटर टहलने से विश्व की अर्थव्यवस्था को, प्रति वर्ष 7 लाख करोड़ रुपए तक बढ़ाया जा सकता है. 7 देशों के, 1 लाख 20 हजार लोगों पर अध्ययन करने के बाद इस रिपोर्ट को तैयार किया गया है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि पैदल चलने या टहलने से आपकी Productivity यानी उत्पादन क्षमता बढ़ती है. जब किसी व्यक्ति की उत्पादन क्षमता बढ़ती है तो देश की अर्थव्यवस्था को भी इससे फायदा पहुंचता है.

जब आप शारीरिक रूप से Active रहते हैं, तो High Blood Pressure, Anxiety और Depression जैसी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है  जब लोग स्वस्थ होते हैं…तो मृत्यु दर में भी कमी आती है. यानी आप इसे इस तरह समझ सकते हैं…कि लोगों के अधिक समय तक जीवित रहने और लगातार काम करने के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी फायदा पहुंचता है.

इस रिपोर्ट में ये कहा गया है कि कंपनियों को World Health Organization की Guidelines के अनुसार, अपने कर्मचारियों को व्यायाम करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए . ऐसा करने से न सिर्फ लोगों की उत्पादन क्षमता में वृद्धि होती है बल्कि वो कम छुट्टियां भी लेते हैं.  

WHO के अनुसार, 18 वर्ष से ऊपर के प्रत्येक व्यक्ति को एक हफ्ते में कम से कम 2 घंटे 30 मिनट की हल्की फुल्की  Exercise या 75 मिनट की कठिन Exercise करनी चाहिए. वर्ष 2018 की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में लगभग 40 प्रतिशत लोग ब्रिटेन में 36 प्रतिशत और चीन में 14 प्रतिशत लोग स्वस्थ रहने के लिए बहुत कम व्यायाम करते हैं.

पूरे विश्व की जनसंख्या का लगभग 30 फीसदी हिस्सा शारीरिक रूप से Active नहीं है और इस कारण हर वर्ष 50 लाख मौतें होती हैं.

Fitness Tracking Gadgets बनाने वाली एक कंपनी की रिपोर्ट के अनुसार शारीरिक रूप से Active रहने के मामले में भारतीय सबसे पीछे हैं. एक भारतीय हर रोज औसतन 6 हजार 533 कदम चलता है  इस रिपोर्ट के अनुसार सबसे Active देश Hong Kong है. Hong Kong में एक व्यक्ति प्रतिदिन 10 हजार 133 कदम चलता है.  
Australia, Thailand और Finland के शोधकर्ताओं के मुताबिक इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप धीरे चलते हैं या तेज. लेकिन लगातार एक्टिव रहने से आपका स्वास्थ्य बेहतर रहता है और आपकी Productivity में भी इजाफा होता है.

अमेरिका के एक Medical Journal की रिपोर्ट के मुताबिक एक औसत भारतीय की Peak Productivity सिर्फ साढ़े 6 साल है. यानी एक भारतीय..जिंदगी में सिर्फ साढ़े 6 वर्षों तक ही अपनी कार्यक्षमता का सबसे ज्यादा उपयोग कर पाता है. जबकि चीन में ये 20 वर्ष, ब्राजील में 16 वर्ष और श्रीलंका में 13 वर्ष है.

Human Capital के मामले में भारत 195 देशों में 158वें नंबर पर है. Human Capital का अर्थ जिंदगी के उन वर्षों से हैं जब कोई इंसान सबसे ज्यादा काम करता है. अक्सर इसका आंकलन 20 वर्ष से लेकर 64 वर्ष के बीच किया जाता है. ये आर्थिक प्रगति से जुड़ा एक महत्वपूर्ण पैमाना है.

यानी अगर भारतीयों की सेहत सुधर जाए और वो शारीरिक रूप से Active हो जाएं तो अर्थव्यवस्था भी बहुत तेज़ रफ्तार से बढ़ने लगेगी.

एक अनुमान के मुताबिक अगर भारत की Work Force का स्वास्थ्य बेहतर हो जाए…तो GDP में 1 दशमलव 4 प्रतिशत का इज़ाफा हो सकता है.

नागरिकों के अच्छे स्वास्थ्य का असर प्रति व्यक्ति आय पर भी पड़ता है. सबसे सेहतमंद देशों के Index में स्पेन इस वक्त नंबर एक पर है. वहां प्रति व्यक्ति आय 4 लाख 71 हज़ार रुपये है. जबकि भारत में प्रति व्यक्ति आय सिर्फ 1 लाख 26 हज़ार रुपये है.

इसी तरह सेहतमंद देशों में लोग बीमार देशों के मुकाबले, प्रति घंटे ज्यादा पैसे कमाते हैं. नॉर्वे में एक व्यक्ति प्रति घंटे 75 डॉलर्स यानी करीब 5 हज़ार रुपये कमाता है. जबकि भारत के लोग प्रति घंटे सिर्फ साढ़े 3 डॉलर्स यानी करीब 250 रुपये कमा पाते हैं.

अच्छी सेहत वाले नागरिक अर्थव्यवस्था को बीमारियों के बोझ से भी मुक्त रखते हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारत के 34 प्रतिशत परिवार बीमारियों पर होने वाले खर्च से त्रस्त हैं. यानी Fit रहकर कई बीमारियों को दूर रखा जा सकता है. और इससे पैसों की भी बचत होती है.

अब आपको ये बताते हैं…कि आप अच्छी सेहत पाने के लिए क्या कर सकते हैं.

इसके लिए प्रतिदिन आपको कम से कम आधे घंटे व्यायाम ज़रूर करना चाहिए. आप चाहें तो सूर्य नमस्कार भी कर सकते हैं.

आप रोज़ाना कम से 10 हज़ार कदम चलने की आदत ज़रूर डालें इससे आपका दिल स्वस्थ रहेगा.

आप Swimming और Cycling के ज़रिए भी खुद को तंदरुस्त रख सकते हैं .

आपको सेहत बिगाड़ने वाले भोजन से दूर रहना चाहिए. भोजन हमेशा संतुलित मात्रा में ही करें.

देर रात को भोजन ना करें. सोने से कम से कम 3 घंटे पहले ही Dinner कर लें. रात को Bed की बजाय Dining Table पर भोजन करें. और इस दौरान टीवी और मोबाइल फोन से दूर रहें .

Fit ऱहने के लिए अच्छी नींद भी ज़रूरी है. इसलिए कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद ज़रूर लें.

अच्छे शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ अच्छा मानसिक स्वास्थ्य भी ज़रूरी है. इसके लिए Meditation यानी ध्यान करने की आदत डालें. सकारात्मक संदेश देने वाली किताबें पढ़ें और जिंदगी की चुनौतियों से विचलित होने की बजाय डटकर उसका सामना करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here