VIDEO: इस्लामाबाद में फहराया गया तिरंगा, भारतीय उच्चायोग में लगे ‘जय हिंद’ के नारे

0
26

इस्लामाबाद/नई दिल्ली: इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग में 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गुरुवार को बड़े उत्साह के साथ परिसर के अंदर तिरंगा फहराया गया. जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के बाद पाकिस्तान से निष्कासित मौजूदा भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने कहा, “भारतीय उच्चायोग में झंडा फहराता रहेगा.” इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग ने ट्वीट किया, “भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तान के इस्लामाबाद में स्थित भारतीय उच्चायोग में बड़े उत्साह के साथ तिरंगा फहराया गया. डी-एफेयर्स के प्रभारी गौरव अहलूवालिया ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और राष्ट्रपति के संदेश को पढ़ा.”

इस हफ्ते की शुरुआत में निष्कासित होने के बाद दिल्ली आए अजय बिसारिया ने ट्वीट कर कहा, “भारतीय उच्चायोग में झंडा इसी तरह फहराता रहेगा.” भारतीय उच्चायोग ने अपने कर्मचारियों की तस्वीरों को पोस्ट किया. 50 पुरुषों को बंद-गले के काले सूट में देखा जा सकता है. उनके साथ नौ महिलाएं साड़ी पहने कुछ बच्चों के साथ खड़ी हैं.

सभी ने हाथ पकड़े हैं और कुछ ने विक्ट्री का साइन (विजय चिन्ह) बनाया है. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सभी कर्मियों की तस्वीरें ऐसे समय में आई हैं जब कुछ दिन पहले ही पाकिस्तानी मीडिया ने दावा किया था कि उनकी सरकार ने अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद द्विपक्षीय संबंधों को खत्म करते हुए भारतीय उच्चायोग के 13 सदस्यों को निष्कासित कर दिया है.भारतीय विदेश मंत्रालय ने इन सभी खबरों का खंडन करते हुए कहा था कि उच्चायोग के कुछ कर्मचारी भारत में वापस अपने घर ईद मनाने के लिए आए थे. 

PAK से लौटे भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया
आपको बता दें कि भारत द्वारा जम्मू एवं कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने पर इस्लामाबाद ने भारत पर एकतरफा कार्रवाई करते हुए बिसारिया को देश छोड़ने का आदेश दिया था. विवरण के अनुसार, बिसारिया पाकिस्तान में एक साल, सात महीने और 25 दिन रहे. कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान ने न केवल भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित किया, बल्कि उसने द्विपक्षीय व्यापार को भी निलंबित कर दिया है, और स्थायी रूप से दो सीमा पार ट्रेन सेवाओं और एक बस सेवा को निलंबित कर दिया है.

इनपुट आईएएनएस से भी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here