CBSE ने परीक्षा शुल्क में बढ़ोतरी पर दूर किया कन्फ्यूजन, बताया सबको देने होंगे ₹ 1500

0
19

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (CBSE) ने बोर्ड फीस की बढ़ोतरी पर छात्रों के बीच फैली भ्रम की स्थिति को दूर करने के लिए बयान जारी किया गया है. सीबीएसई की तरफ से साफ किया गया कि शुल्क में बढ़ोतरी सिर्फ दिल्ली के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश में यह लागू होगी. कुछ मीडिया रिपोर्टस से यह कन्फ्यूजन की स्थिति बन रही है. साथ ही सीबीएसई की तरफ से जारी पत्र में दावा किया गया कि बोर्ड ने पांच साल के बाद फीस में बढ़ोतरी की है.

पहले सभी से लिए जाते थे 750 रुपये
शुल्क में की गई बढ़ोतरी सभी वर्ग के छात्रों के लिए की गई है और यह देश में सीबीएसई से संबंद्ध सभी स्कूलों में प्रभावी होगी. सभी छात्र पहले 750 रुपये फीस (प्रत्येक विषय के लिए 150 रुपये) देते थे, उन्हें अब 1500 रुपये (प्रत्येक विषय के लिए 300 रुपये) देने होंगे. दृष्टि बाधित छात्रों से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा. पहले खबर थी कि अनारक्षित वर्ग के छात्रों के लिए 1500 रुपये और एससी/एसटी के लिए 50 से बढ़ाकर शुल्क 1200 रुपये कर दी गई है.

दिल्ली के एससी/ एसटी छात्रों को मिलती थी छूट
बोर्ड की तरफ से यह भी साफ किया गया कि एससी/ एसटी छात्रों को सिर्फ दिल्ली में छूट मिल रही थी. विशेष व्यवस्था के तहत दिल्ली के एससी/ एसटी छात्रों के लिए फीस 350 रुपये तय की गई थी जिसमें 300 रुपये दिल्ली सरकार और 50 रुपये स्टूडेंट्स जमा करते थे. दिल्ली के अनारक्षित वर्ग के छात्र देश के बाकी छात्रों की तरह 750 रुपये शुल्क देते थे़, उन्हें अब 1500 रुपये देने होंगे.

सीबीएसई, CBSE, CBSE board fee, CBSE fee

सीबीएसई ने शुल्क बढ़ोतरी के बाद अन्य सेंट्रल बोर्ड की फीस भी बताई. सीबीएसई ने बताया कि सेकेंड्री लेवल के लिए एनआईओएस पुरुष उम्मीदवारों से 1800 रुपये, महिला छात्रों से 1450 रुपये और एससी/ एसटी से 1200 रुपये लेता है. इसी तरह सीनियर सेकेंड्री लेवल पर पुरुष छात्रों से 2000 रुपये, महिला छात्राओं से 1750 रुपये और एससी/ एसटी से 1300 रुपये शुल्क ली जाती है. प्रत्येक एडिशनल सब्जेक्ट के लिए 720 रुपये शुल्क ली जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here