सीरिया में सैन्य तनाव बढ़ने पर आम लोगों की सुरक्षा की चिंता, लाखों विस्थापित

    0
    15

    सीरिया में सैन्य तनाव बढ़ने से घर छोड़ने को मजबूर स्थानीय लोग – फोटो : ट्विटर

    ख़बर सुनें

    खास बातें

    • उत्तरी सीरिया में बढ़े सैन्य तनाव के कारण लाखों लोग इलाका छोड़ने के लिए मजबूर
    • अमेरिका ने हटाई थी सेना, इसके तुरंत बाद तुर्की ने किए थे जमीनी और हवाई हमले
    • यूएनएचसीआर ने अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानूनों का सम्मान करने का आग्रह किया
    • करीब 60 लाख सीरियाई लोग देश के भीतर विस्थापित, और बिगड़ सकते हैं हालात
    संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (यूएनएचसीआर) ने गुरुवार को कहा है कि सीरिया के पूर्वोत्तर इलाके में हाल के दिनों में बढ़े सैन्य तनाव के कारण लाखों लोगों को सुरक्षा के चलते वो इलाका छोड़ना पड़ा है। इससे एक दिन पहले ही तुर्की ने सीरिया में हवाई और जमीनी हमले किए थे।

    विज्ञापन

    शरणार्थी एजेंसी ने सभी पक्षों से अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानूनों का सम्मान करने का आग्रह किया है। इनमें जरूरतमंद लोगों तक जरूरी सामग्री पहुंचाने के लिए एजेंसियों को रास्ता देना भी शामिल है। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त फिलिपो ग्रैंडी ने कहा है, ‘उत्तरी सीरिया में लाखों लोग अब भारी मुसीबत में हैं। आम लोगों और सिविलियन बुनियादी ढांचे को नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए।’

    और बदतर हो सकते हैं सीरिया के हालात

    एजेंसी ने आगाह करते हुए कहा है कि मौजूदा हालात से सीरिया की स्थिति और ज्यादा बदतर होने की आशंका है, जबकि सीरिया में इस समय विश्व का सबसे बड़ा विस्थापन या शरणार्थी संकट बना हुआ है।

    50 लाख से ज्यादा सीरियाई लोगों को शरणार्थी के तौर पर जीवन जीना पड़ रहा है, और अन्य लगभग 60 लाख देश के भीतर ही विस्थापित हैं। उधर संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनीसेफ) ने भी पहले से ही भीषण युद्धग्रस्त देश सीरिया में मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति भड़कने पर गहरी चिंता जताई है।

    विज्ञापन
    आगे पढ़ें

    विज्ञापन

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here