लव, सेक्स, धोखा और डबल मर्डर की अनूठी दास्तां, पढ़ें- एक पुलिस इंस्पेक्टर और रशियन लड़की की स्टोरी

0
8

मुंबई: रूस की एक महिला ने महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) के पुलिस इंस्पेक्टर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है. इस मामले में मुंबई के चेंबुर पुलिस स्टेशन में आरोपी पर एफआईआर दर्ज हो गई है. उसी एफआईआर में महिला ने इस इंस्पेक्टर पर डबल मर्डर का भी आरोप लगाया है. पुलिसकर्मी फिलहाल पिम्परी चिंचवड थाने में तैनात है. पीड़िता का आरोप है कि पुलिस इंस्पेक्टर भानुदास उर्फ अनिल अण्णा साहेब जाधव से उसने एक बच्चे को भी जन्म दिया है. उसका कहना है कि इस पुलिसकर्मी ने उसका रूस का पासपार्ट अपने पास रख लिया और फर्जी आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड और अन्य फर्जी दस्तावेज पर उसका भारतीय पासपोर्ट बनवा दिया.

रूस की रहने वाली एक महिला साल 2003 में मुंबई रोजी-रोटी का तलाश में मुंबई आई थी. महिला को कुछ दिन इंडस्ट्री में खास काम नहीं मिला और इसी बीच उसका छह महीने का वीजा समाप्त हो जाता है. इसी दौरान एक रिक्शा चालक मुश्ताक उसे इमीग्रेशन में तैनात पुलिस अधिकारी अनिल अण्णा साहेब जाधव से मिलाता है. पीडित महिला का पासपोर्ट देखकर पुलिसकर्मी उसे बताया कि पासपोर्ट एक्सपायर हो गया है और पेनॉल्टी भर के उसकी अवधि बढ़ जाएगी. इसी भरोसे में भानुदास ने उसका पासपोर्ट ले लिया. इस मुलाकात में ही भानुदास ने महिला का फोन नंबर भी ले लेता है.

फिल्म में काम दिलाने का झांसा
इसके बाद से भानुदास महिला से संपर्क में रहने लगा उसे फिल्म में काम दिलाने की बात भी करने लगा. एक दिन रुसी महिला को मोबइल खो गया और भानुदास से उसका संपर्क टूट गया. महिला का पासपोर्ट भानुदास के पास होने की वजह से वह अपने देश वापस नहीं जा पा रही थी. उसने यहां-वहां चक्कर लगाने शुरू किए, जिसके बाद एंटी नॉरकोटिक्स के एक अधिकारी से भानुदास का नंबर उसे मिला और उसने दोबार संपर्क कर अपना पासपोर्ट वापस लेना चाहा, लेकिन भानुदास ने उसे बताया कि तुम्हारे असली नाम से तुम्हारा पासपोर्ट नहीं बन पाएगा इसीलिए तुम्हें कश्मीर की रहने वाली बताकर दस्तावेज बनवाने पड़ेंगे.

शराब पिलाकर किया दुष्कर्म
इसी बीच, चेंबूर के एक होटल में पुलिसकर्मी भानुदास उस रशियन महिला को मिलने के लिए बुलाता है. जहां भानुदास ने वोदका शराब मंगवाई थी जिसे वो उस महिला को पीने का आग्रह करता है. महिला ने मना किया लेकिन भानुदास उसे कहता है कि वोदका से नशा नहीं होता है. इसी दरम्यान महिला अंदर पानी लेने जाती है और बाहर आती है तो वह देखती है कि जिस गिलास में उसके लिए वोदका रखी गई है उसका रंग भानुदास की गिलास में भरी वोदका से अलग है. उसके पूछने पर भानुदास कहता है कि उसने व्हिस्की मिलाई है. जब महिला ने वो वोदका पी जाती है तो उसे चक्कर आने लगते हैं और उसके शरीर से ताकत खतम हो जाती है. इसके बाद भानुदास उस अंदर के कमरे में ले जाता है  और पहले एक इंजेक्शन निकालकर खुद को लगाता है. इसके बाद इस महिला से बलात्कार करता है. इसके बाद भानुदास ने इस महिला का लाइसेंस भी बनवाया और उसे धमकी भी दी की वह एक टॉप रैंक का पुलिस अधिकारी है, जिसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता.

पीड़िता कई बार गर्भवती हुई
आरोपी ने उस महिला को कभी भी ये नहीं बताया कि वह शादीशुदा भी है. वह उस महिला को जेल डालने की धमकी देकर ब्लैकमेल करके हमेशा जबरदस्ती करता रहा. इसी दरम्यान पीड़िता गर्भवती भी हुई तब उसने भानुदास से शादी की बात की लेकिन आरोपी पुलिसवाले ने उस महिला की सिर पर पिस्तौल तानकर उसे गर्भपात कराने को कहा और धमकी दी अगर गर्भपात नहीं कराया तो ठीक नहीं होगा. भानुदास ने कई बार उस महिला के साथ अप्राकृतिक संबंध भी बनाए. इसके चलते जब उस महिला को तकलीफ होती तो उसे वह दवाई दे देता था, क्योंकि भानुदास की पत्नी डॉक्टर थी और इसी के चलते उस दवाओं की जानकारी थी.

रशियन महिला से संबंध की बात भानुदास की पत्नी को पता चली जिसके बाद उनके बीच बहुत झगडा हुआ. इसी के बाद भानुदास ने उस महिला को मुंबई छोड़कर जाने को कहा. फिर पीड़ित महिला पुणे में जाकर रहने लगी. जहां पर एक एनजीओ के लिए काम करती थी और एक दंपती के घर जाकर उनका बच्चा भी संभालती थी. इसी दरम्यान भानुदास पुणे आता है और सब्जी मार्केट में वह महिला को देख लेता है और फिर उसके घर पहुंच जाता है. वहां भी उसके साथ कई बार बलात्कार करता है.

ड्रग्स माफियाओं से संबंध
इसी बीच, कर्जत में एक रेव पार्टी का खुलासा होता है जिसमें भानुदास का नाम आता है. उसके संबंध ड्रग्स माफियाओं से होने की बात सामने आती है. इसी के चलते वह निलंबित कर दिया जाता है. जिसके बाद आरोपी का महिला के घर आना-जाना फिर शुरू हो जाता है और वह महिला दोबारा गर्भवती हो जाती है. इस बार फिर से भानुदास उसका अबॉर्शन कराता है. कुछ समय बाद वह महिला फिर से गर्भवती होती है तो वो उससे शादी करता है. इसके लिए भानुदास एक मुस्लिम धर्मगुरु से मिलकर अपना धर्मांतरण करता है और अपना नाम अली रख लेता है. बाद में पीड़ित महिला को एक बच्चा होता है.

महिला का रूस छोड़कर भाग आया
जब भानुदास का तबादला पुणे होता है तब वो उस महिला को उसके घरवालों से मिलाने के लिए रूस लेकर जाता है. जहां पर भानुदास उस महिला और बच्चे को छोड़कर चुपचाप पुणे लौट आता है. साथ ही उस महिला का पासपोर्ट भी साथ लेकर चला आता है. इस पर जब वह महिला उससे संकर्प करती है तो वह कहता है कि पुलिस कमिश्नर ने उसे फौरन बुलाया था इसीलिए उसे भारत जल्दी आना पड़ा. महिला को बाद में पता चलता है कि उसका पासपोर्ट ब्लॉक कर दिया गया है फिर भी वो किसी तरह से भारत आती है. यहां आने के बाद जब वो भानुदास को ढुंढती हुई पुणे के घर में पहुंचती है तो वह भानुदास को किसी दूसरी महिला के साथ नग्न अवस्था में देख लेती है. अचानक आने पर भानुदास उसके साथ मारपीट भी करता है, जिसमें पीड़िता के दांत टूट गए.

पीड़िता से पत्नी ने लगाई गुहार
इस घटना की शिकायत करने जब पीड़िता पिंपरी चिंचवड के पुलिस आयुक्त कार्यालय जाती है. इसी दौरान वहां पर वही महिला मिलती है जिसके साथ भानुदास कमरे में नग्न अवस्था में पाया गया था. उसी महिला ने पीड़िता को पुलिस कमिश्नर से मिलने नहीं दिया. बाद में भानुदास की पत्नी पीड़ित से मिली और उससे प्रार्थना की कि उसके पति के खिलाफ वह कोई भी शिकायत दर्ज ना कराए.

बच्चे का नाम हिंदू धर्म के हिसाब से
यही नहीं, कोल्हापुर कोर्ट में उसके बच्चे का बर्थ सर्टिफिकेट बनाने के लिए आरोपी ने बच्चे का नाम हिंदू धर्म के हिसाब से लिखवाया जबकि उसने इस्लाम धर्म स्वीकार किया था. बाद में पता चला कि रशियन महिला से पैदा बच्चे को भानुदास को अपनी पत्नी को देना चाहता था, क्योंकि उनकी औलाद नहीं थी.

एक लड़की और उसके भाई को मारकर जमीन में दफन कर दिया
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि एक दिन पुणे के एक फॉर्म हाउस पर भानुदास उर्फ अनिल जाधव एक लड़की को लेकर गया था. वहां पर ड्रग्स का ओवर डोज हो जाने के कारण लड़की मर गई. जिसके बाद भानुदास ने उस फार्म हाउस में उसके शव को गाड़ दिया. जब मृतका का भाई बार-बार आकर अपनी बहन के बारे में पूछता रहता था तो एक दिन उसी फार्म हाउस पर ही पुलिसकर्मी ने लड़की के भाई को भी गोली मार दी. हत्या के बाद उसका शरीर कुत्तों के आगे डाल दिया और बाकी हिस्सा जमीन में गाड़ दिया. यही नहीं, शव के ऊपर सीमेंट का प्लास्टर करा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here