लगातार 3 दिन भारतीय सीमा पर दिखा पाकिस्तानी ड्रोन, सर्च अभियान में मिली 25 करोड़ की हेरोइन

0
7

दिल्ली: पाकिस्तान(Pakistan) की ओर से लगातार तीन दिन ड्रोन की मूवमेंट देखने के बाद सर्च ऑपरेशन के दौरान बीएसएफ ने भारत पाक सीमा की चौकी बस्ती रामलाल वाली के पास 25 करोड़ की 5 किलोग्राम हेरोइन की बरामद की है. बता दें के पिछले 3 दिनों से पाकिस्तान(Pakistan) की ओर से ड्रोन मूवमेंट देखा गया था उसके बाद बीएसएफ पंजाब पुलिस और देश की सुरक्षा एजेंसियों द्वारा सरहद पर लगातार पिछले 3 दिनों से सर्च ऑपरेशन किया जा रहा था और इसी सर्च ऑपरेशन के दौरान भारत पाक सीमा के पास 25 करोड़ की 5 किलोग्राम हीरोइन बरामद की गई है. बीएसएफ ओर पुलिस द्वारा सर्च ऑपरेशन जारी है.

मंगलवार रात को हुसैनावाला क्षेत्र में भारत-पाकिस्तान(Pakistan) सीमा के पास भारतीय क्षेत्र में एक संदिग्ध पाकिस्तान(Pakistan)ी ड्रोन देखा गया. सुरक्षा अधिकारियों ने यह जानकारी दी. बीते तीन दिनों में फिरोजपुर के पास हुसैनावाला में इस तरह की तीसरी वस्तु देखी गई है. गांववालों ने अपने मोबाइल में ड्रोन की तस्वीर ली है. प्रत्यक्षदर्शी ने एक समाचार चैनल को बताया, “फिरोजपुर में रात में आसमान में एक चमकती हुई चीज देखी गई.”

फिरोजपुर उपायुक्त चंद्र गैंद ने कहा कि बीएसएफ और पुलिस ने भारत-पाकिस्तान(Pakistan) सीमा के पास गश्त को बढ़ा दिया है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि ड्रोन या उसके द्वारा गिराए गए किसी समान की तलाशी के लिए क्षेत्र में और सीमा से लगे सतलज नदी के किनारे तलाशी अभियान चलाया गया है.

पंजाब पुलिस सीमा पार से क्षेत्र में दो ड्रोनों द्वारा गिराए गए हथियारों की तलाश भी कर रही है. पुलिस के एक प्रवक्ता ने 27 सितंबर को कहा था कि पुलिस टीमें पाकिस्तान(Pakistan) से भेजे गए इन ड्रोन्स से संबंधित आतंकवादी संगठनों के लिंक भी तलाश रही हैं. 

उन्होंने स्पष्ट किया कि अभी तक सिर्फ दो ड्रोन जब्त किए गए हैं, जिनमें एक पिछले महीने और दूसरा तीन दिन पहले तरन तारन जिले के धाबल नगर में जली हुई स्थिति में मिला था. अब तक हुई जांच के अनुसार, अगस्त में कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान(Pakistan) के कई आतंकवादी संगठन भारत में हथियार भेज रहे हैं.

जब्त हुए दोनों ड्रोन आईएसआई और उसके कमांड के तहत काम कर रहे राज्य प्रायोजित जिहादी और खालिस्तान समर्थक आतंकवादी गुटों से संबद्ध अलग-अलग आतंकवादी संगठनों के लग रहे हैं. 

इनपुट:  GURDARSHAN SINGH

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here