राफेल पूजा: राजनाथ का विरोधियों को जवाब, ‘क्या भारतीय संस्कृति का पालन करना गुनाह है’

0
36

करनाल: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (rajnath singh)  राफेल (Rafale) पूजा विवाद पर विरोधियों को करारा विवाद दिया है. राजनाथ सिंह ने कहा कि क्या भारतीय परंपरा और संस्कृति का पालन करना गुनाह है. 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विमान पर ऊं लिख दिया तो विपक्ष ने इस पर भी विवाद पैदा कर दिया है. उन्होंने कांग्रेस (congress) पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस बिना सोचे समझे आरोप लगाती है. एक चुनावी सभा में बोलते हुए  राजनाथ सिंह ने मौजूद लोगों से कहा, ‘मैं आप लोगों से पूछना चाहता हूं कि क्या आपके घरों में ऊं नहीं लिखा होता.  ‘

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की तारीफ करते हुए गृहमंत्री ने कहा, ‘हरियाणा के पुराने मुख्यमंत्री, चाहे कांग्रेस के हों या आईएनएलडी के, दिल्ली से सरकार चलाते थे। सीएम मनोहर लाल खट्टर जमीनी स्तर पर सरकार चलाते हैं.’

रक्षामंत्री राजनाथ सिह ने दशहरा के अवसर पर मंगलवार (8 अक्टूबर) को 36 राफेल विमानों में से प्रथम विमान को औपचारिक रूप से प्राप्त किया था. विजयादशमी पर राफेल (Rafale) को रिसीव करने के बाद रक्षामंत्री ने पूरे विधि-विधान से इसकी शस्त्र पूजा की.  उन्होंने राफेल (Rafale) पर नारियल चढ़ाया, उसपर फूल अर्पित किया. राफेल (Rafale) के विंग में धागा बांधा और उसपर ऊं लिखा. उसके पहिए के नीचे नींबू रखे गए दिए थे.

इसके बाद राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) इसकी पहली उड़ान पर निकल पड़े थे. राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पूरी तरह से एक फाइटर पायलट की तरह ड्रेसअप होकर दुनिया के सबसे तेज-तर्रार फाइटर प्लेन राफेल (Rafale) में उड़ान भरी थी. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here