मौसम की मार: पहाड़ों में जमकर बर्फबारी, दो दिन राहत नहीं, लाहौल में हिमखंड से रुकी चिनाब नदी

    0
    10

    ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली/शिमला/श्रीनगर/देहरादून/मुंबई। Updated Tue, 14 Jan 2020 04:22 AM IST

    ख़बर सुनें

    सार

    • 359 सड़कें बंद हुईं बफबारी के चलते हिमाचल प्रदेश में
    • 100 से अधिक हाईवे और संपर्क मार्ग बंद जम्मू-श्रीनगर में
    • खराब मौसम के चलते श्रीनगर एयरपोर्ट से सभी उड़ानें रद्द
    • 250 गांवों में पहले गिरी बर्फ पर फिर बर्फबारी उत्तराखंड में
    • 24 घंटे में पश्चिमी विक्षोभ से कई जगह बर्फबारी, बारिश

    विस्तार

    पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बर्फबारी और बारिश लोगों की मुसीबत बन गई है। वहीं, मैदानी इलाकों में फिर ठिठुरन बढ़ गई है। हिमाचल में भारी बारिश-बर्फबारी के बाद कई जगह भूस्खलन से 359 सड़कें बंद हैं। लाहौल में हिमखंड गिरने से चिनाब नदी का प्रवाह रुक गया। मौसम विभाग के अनुसार, मौसम की मार से फिलहाल अगले दो दिनों तक राहत मिलने के आसार नहीं हैं।

    विज्ञापन

    जम्मू-कश्मीर में जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद हो गया है और श्रीनगर एयपोर्ट से सभी उड़ानें रद्द करनी पड़ी हैं। उत्तराखंड के सैकड़ों गांवों में पहले से जमी बर्फ के बीच सोमवार को फिर बर्फबारी हुई। इस बीच, भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि पश्चिमी विक्षोभ के चलते अगले 24 घंटे में जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में तेज बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

    लाहौल घाटी के ठोलंग गांव के नजदीक वामतट की पहाड़ी पर मिजली नाला में हिमखंड गिरने से चिनाब नदी का बहाव पांच घंटे रुका रहा।  मंडी-कुल्लू नेशनल हाईवे पर भूस्खलन में सैकड़ों सैलानी फंस गए। चंडीगढ़-मनाली हाईवे पर चट्टानें गिरने से सड़क एक घंटा बाधित रही। सोमवार को प्रदेश में 359 सड़कें बंद रहीं। इस बीच, 16 जनवरी को भी भारी बारिश-बर्फबारी की चेतावनी जारी की गई है। लोनिवि को 8 दिनों में लगभग 107 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

    वैष्णो देवी हेलिकॉप्टर सेवा बंद रही
    जम्मू-कश्मीर में जवाहर टनल पर बर्फबारी और रामबन के कई हिस्सों में भूस्खलन, पत्थर गिरने से 270 किमी लंबा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया। इससे दोनों ओर हजारों वाहन हाईवे पर फंस गए। प्रदेश में सौ से अधिक संपर्क मार्ग बंद हैं। वैष्णो देवी के लिए कटड़ा-सांझीछत हेलिकॉप्टर सेवा ठप रही। प्रदेश में बिजली ढांचे को भी नुकसान पहुंचा है।

    उत्तराखंड : कई गांवों में बिजली और पानी नहीं
    उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में चार दिन की राहत के बाद सोमवार को फिर बारिश और बर्फबारी शुरू हो गई। टिहरी के धनोल्टी सहित गंगोत्री-यमुनोत्री, बदरीनाथ, केदारनाथ और हर्षिल में दोपहरबाद से बर्फबारी हुई। उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के करीब 100-100 और चमोली के करीब 40 गांवों में दोबारा बर्फबारी मुश्किलें बढ़ गई हैं। चमोली में बिजली-पानी की समस्या खड़ी हो गई है। उत्तरकाशी के 72 गांवों में एक हफ्ते से बिजली नहीं है।

    विज्ञापन
    आगे पढ़ें

    हिमस्खलन में फंसी किशोरियों को बचाया

    विज्ञापन

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here