भारत की इस महामारी से निपटने के लिए ओमान के सुल्तान ने दिए थे 12 करोड़ रुपए, यहां जानिए पूरा मामला

0
7

मेवात (अनिल मोहनिया): ओमान के सुल्तान के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया और उन्हें भारत का सच्चा मित्र बताया. इसके पीछे की वजह काफी पुरानी है. दरअसल ओमान के सुल्तान का मेवात से विशेष लगाव था. अल आफिया अस्पताल मांडीखेड़ा हमेशा उनकी याद भी दिलाता रहेगा. ओमान के सुल्तान भले ही दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह चुके हों, लेकिन उनको मेवात के लोग कभी नहीं भुला पाएंगे. नूह जिले के लोगों को सुल्तान ने ऐसी सौगात दी, जिससे मेवात के लोगों का इलाज संभव हो पा रहा है.

सुल्तान की बेटी की सन 2000 में चरखी दादरी हरियाणा के समीप विमान हादसे में जान चली गई थी. दादरी में दो विमान क्रैश हुए थे, जिनमें करीब 350 लोगों की जान चली गई थी. ओमान के सुल्तान की बेटी का नाम अल आफिया था, जिनके नाम पर इस अस्पताल का नाम अल आफिया सामान्य अस्पताल मांडीखेड़ा रखा गया.

पंचतारा होटल नुमा अस्पताल भवन को देखकर तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने 1 जून 2011 को यूपीए चैयरपर्सन सोनिया गांधी की मौजूदगी में उनकी तारीफ की थी. बता दें कि 1996 में बरसात अधिक हुई थी, जिसके बाद कामेडा इत्यादि बांध टूट गए और बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए.

बाढ़ से मेवात क्षेत्र में फैली महामारी से करीब 5 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई थी. तब ओमान ही वह देश था, जिसने लोगों की जानें बचाने के लिए उस वक्त 12 करोड़ रुपए की भारी भरकम मदद भारत सरकार को दी थी. उस दौरान महागठबंधन के प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने नगीना कॉलेज परिसर में पहुंचकर बीमारी का जायजा लिया था और एक बड़ा अस्पताल बनाने का ऐलान भी किया. 

 राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर 2 अक्टूबर 1997 को देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल ने मांडीखेड़ा गांव में पहुंचकर हरियाणा प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री बंसीलाल के साथ करोड़ों रुपए की लागत से ओमान की सहायता से सुल्तान काबूस बिन सैद अस्पताल का शिलान्यास किया था. इस आयोजन में भारत में ओमान के तत्कालीन राजदूत मोहम्मद ताहिर अलवी एदीद भी शामिल हुए थे. ओमान के सुल्तान की मौत पर मेवात में शोक की लहर है. 

इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओमान के सुल्तान काबूस बिन सैद के निधन पर दुख जताते हुए सोशल मीडिया पर घनिष्ठ मित्र एवं दूरदर्शी नेता तथा आधुनिक ओमान का निर्माता बताया है. गत शुक्रवार रात्रि मस्कट में 79 वर्षीय सुल्तान का निधन हो गया था. मौलाना डॉक्टर रफीक आजाद सहित बाढ़ के दौरान मेवात में फैली महामारी पर प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा से मेवात की उलेमा बिरादरी का प्रतिनिधि मंडल मिला था. बाढ़ की खबर के बाद भारत सरकार के नागरिक उड्यन मंत्री सीएम इब्राहिम ने मेवात क्षेत्र का दौरा किया और हालात का जायजा लेने के बाद पूर्व पीएम को स्थिति से अवगत कराया.  

इसके अलावा अल आफिया अस्पताल भवन की खासियत ये है कि उसके जैसा भवन हरियाणा ही नहीं बल्कि देश भर में शायद ही किसी राज्य में होगा. ओमान के सुल्तान ने पूरा दिल खोलकर तथा खजाने का मुंह खोलकर इसे बनाया था. इस अस्पताल से देश-दुनिया की कुछ मशहूर हस्तियों का नाम भी जुड़ा हुआ है. पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा, पूर्व पीएम आई के गुजराल, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, पूर्व सीएम गुलाम नबी आजाद, पूर्व राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया, पूर्व केंद्रीय मंत्री सीएम इब्राहिम, पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित कई अन्य हस्तियों का नाम भी इससे जुड़ा हुआ है. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here