भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर पाक की नापाक हरकत, कश्मीर मुद्दे को लेकर मनाया ‘काला दिवस’

    0
    42

    पाक प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

    ख़बर सुनें

    पाकिस्तान ने गुरुवार को भारत सरकार के जम्मू कश्मीर को दिए गए विशेष दर्जे को वापस लिए जाने के कदम के विरोध में भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर विरोध स्वरूप ‘काला दिवस’ मनाया। विरोध के प्रतीक के तौर पर देश भर में छतों और गाड़ियों पर काले झंडे लगाए गए। 

    विज्ञापन

    प्रमुख शहरों में विरोध रैलियों का आयोजन किया गया जबकि कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान के रुख को रेखांकित करने के लिये विभिन्न जगहों पर सेमिनार भी आयोजित किए गए। प्रधानमंत्री इमरान खान, विदेश कार्यालय, आईएसपीआर महानिदेशक, रेडियो पाकिस्तान और कई अन्य ने अपने ट्विटर हैंडल की प्रोफाइल पिक्चर विरोध स्वरूप काली कर रखी थी। 

    पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के भारत सरकार के कदम के विरोध में बुधवार को अपने स्वतंत्रता दिवस को ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ के तौर पर मनाया था।

    पाकिस्तान ने भारत के इस कदम के खिलाफ अपनी करीबी सहयोगी चीन की मदद से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपील की है। भारत ने अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को स्पष्ट रूप से बता दिया है कि जम्मू-कश्मीर को लेकर उसका फैसला आंतरिक मामला है और पाकिस्तान से भी कहा है कि वह इस हकीकत को स्वीकार कर ले। 

    इस बीच, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर मसले पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चुप्पी पर सवाल उठाए और चेतावनी दी कि मुस्लिम जगत में इसके गंभीर प्रभाव होंगे जिससे कट्टरपंथ और हिंसा का चक्र बढ़ेगा। 

    उन्होंने ट्वीट किया, ‘क्या दुनिया चुपचाप देखती रहेगी… मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आगाह करना चाहता हूं, अगर उसने यह होने दिया तो मुस्लिम जगत में इसके गंभीर प्रभाव और प्रतिक्रिया होगी जिससे कट्टरपंथ और हिंसा का चक्र शुरू होगा।’

    इससे पहले बुधवार को खान ने कश्मीर की आवाज बनने की शपथ लेते हुए कहा था कि वह संयुक्त राष्ट्र समेत हर वैश्विक मंच पर इस मुद्दे को उठाएंगे। मुजफ्फराबाद में पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) विधानसभा के विशेष सत्र में खान ने कहा कि अगर भारत और पाक में जंग शुरू होती है तो इसके लिये विश्व समुदाय जिम्मेदार होगा। 

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here