दिल्ली प्रदेश कांग्रेस को आज मिल सकता है नया अध्यक्ष, कीर्ति आजाद दौड़ में आगे

    0
    18

    अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Updated Fri, 11 Oct 2019 01:34 AM IST

    कीर्ति आजाद… दौड़ में आगे

    ख़बर सुनें

    कांग्रेस हाईकमान दिल्ली के सियासी मैदान में प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए पूर्वांचली चेहरे पर दांव लगा सकती है। अब तक इस पद की दौड़ में क्रिकेटर कीर्ति आजाद सबसे आगे चल रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि आजाद के नाम पर मुहर लगना तकरीबन तय है। शुक्रवार को इसकी घोषणा भी हो सकती है। 

    विज्ञापन

    इससे पहले बृहस्पतिवार को दिल्ली प्रदेश प्रभारी पीसी चाको ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। इस दौरान कई नामों पर चर्चा हुई। कीर्ति आजाद के अलावा पूर्व सांसद संदीप दीक्षित व जय प्रकाश अग्रवाल भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल रहे।

    लेकिन जिस तरह दिल्ली में पूर्वांचली सियासत गरमाई हुई है, उससे आजाद के नाम पर सहमति बनती दिख रही है। पूर्वांचल से ताल्लुक रखने के अलावा आजाद दिल्ली की राजनीति का भी जाना-पहचाना चेहरा हैं। वहीं, विपक्षी दलों पर उनका आक्रमण धारदार रहता है। हालांकि, पार्टी ने अभी आजाद के नाम की घोषणा नहीं की है। 

    पीसी चाको का कहना है कि बृहस्पतिवार की बैठक में कई नामों पर चर्चा हुई। इसमें पुराने नेताओं के साथ नए चेहरों पर भी विचार हुआ है। शुक्रवार को एक बार भी सोनिया गांधी के साथ बैठक होगी।

    इसमें भी इस मसले पर चर्चा होगी। दूसरी तरफ पटना में मौजूद कीर्ति आजाद ने बताया कि अभी तक उनके पास कांग्रेस आलाकमान की तरफ से कोई औपचारिक संदेश नहीं आया है। पार्टी से मिली हर जिम्मेदारी के लिए उन्होंने खुद को तैयार बताया।

    शीला दीक्षित के निधन के बाद पद है खाली
    पूर्व मुख्यमंत्री व तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित का जुलाई में निधन के बाद से दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष की कुर्सी खाली थी। बीते करीब तीन महीने तक नया अध्यक्ष न मिलने से दिल्ली विधानसभा की तैयारियों पर असर पड़ रहा था। दिल्ली कांग्रेस के पदाधिकारी भी मानते थे कि लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को आम आदमी पार्टी (आप) पर बड़ी बढ़त मिल गई थी। लेकिन तीन महीने से अध्यक्ष का पद खाली होने से विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर पर असर पड़ रहा था।

    पूर्वांचली व किसी गुट के नहीं होने से आजाद पड़ रहे भारी
    पार्टी सूत्रों का कहना है कि पूर्वांचली होने के कारण पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद अभी आगे चल रहे हैं। फिर, वह गुटों में बंटी दिल्ली कांग्रेस के किसी एक पक्ष से जुड़े नहीं हैं। इसके अलावा क्रिकेटर व नेता के तौर पर वह दिल्ली के लिए भी जाना-पहचाना चेहरा हैं। सूत्र बताते हैं कि आखिरी वक्त में अगर कुछ बड़ा बदलाव नहीं हुआ तो आजाद के नाम की शुक्रवार को घोषणा हो सकती है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here