घाटी के छह हजार युवा उच्च शिक्षा से जुड़े, मोदी सरकार की मुहिम सफल

    0
    12

    ख़बर सुनें

    खास बातें

    • पिछले साल के मुकाबले डेढ़ गुना अधिक छात्रों ने देश के टॉप कॉलेजों में लिया दाखिला
    • इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, आर्किटेक्चर, मेडिकल, फार्मेसी कॉलेजों में रहना, खाना, फीस, किताबों का सारा खर्च देती है सरकार
    • घर-घर जाकर परिजनों संग छात्रों को किया जागरूक

    कश्मीर घाटी के युवा अब पत्थर  या बंदूक की बजाय इंजीनियर, डॉक्टर, फार्मासिस्ट, आर्किटेक्चर या पीएचडी करके देश के विकास से जुड़ना चाहते हैं। इसी के चलते 6,352 छात्रों ने प्रधानमंत्री स्पेशल स्कॉलरशिप के तहत देश के शीर्ष कॉलेजों में दाखिला लिया है। मोदी सरकार की कोशिशों के चलते ही पिछले साल के मुकाबले छात्रों की संख्या में डेढ़ गुना बढ़ोतरी हुई है। इन छात्रों का रहना, खाना, फीस, किताबों का सारा खर्चा सरकार देती हैं।

    विज्ञापन

    घाटी के युवाओं को उच्च शिक्षा से जोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने पिछले दो साल से जम्मू कश्मीर में विशेष अभियान चला रखा है। स्कूलों को ऑनलाइन और सैटेलाइट कैंपस के माध्यम से गुणवत्ता युक्त पढ़ाई करवाई जा रही है। सीबीएसई बोर्ड और एनसीईआरटी के माध्यम से स्पेशल टीचर ट्रेनिंग भी दी गई है। 

    अलगाववादियों और आतंकवादियों ने जिन स्कूलों को जला दिया था, उन्हें दोबारा शुरू किया गया है। स्कूलों में विशेष सुरक्षा भी दी गई है। सरकार का पूरा फोकस है कि स्कूली शिक्षा के दौरान छात्र पढ़ाई न छोड़ें।

     

    विज्ञापन
    आगे पढ़ें

    घर-घर जाकर परिजनों संग छात्रों को किया जागरूक

    विज्ञापन

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here