इस बार का 15 अगस्त तलाक पीड़िताओं के लिए खास, मदरसे में मनाया गया आजादी का जश्न

0
19

बरेली/सुबोध मिश्रा: वैसे तो आज़ादी का जश्न सभी मना रहे है लेकिन इस बार का स्वतंत्रता दिवस तीन तलाक़ पीड़िताओं के लिए बहुत खास है, क्योंकि उन्हें ट्रिपल तलाक़ जैसी कुप्रथा से आज़ादी मिल गई है. जिस वजह से तलाक़ पीड़ित महिलाओं ने आज बड़ी धूमधाम से स्वतंत्रता दिवस मनाया. वही मदरसे में भी आज़ादी का जश्न बड़ी हर्षोल्लास के साथ मनाया गया.  देश आज आज़ादी का जश्न मना रहा है. बरेली में भी आज स्वतंत्रता दिवस की 73 वी वर्षगांठ पर मदरसे में आज़ादी का जश्न बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया. इस मौके पर ध्वजा रोहण के साथ साथ राष्ट्र गान, राष्ट्र गीत और राष्ट्रीय तराना सारे जहां से अच्छा गाकर मदरसे की छात्र छात्राओं ने सबका दिल जीत लिया.

स्वतंत्रता दिवस की 73 वी वर्षगांठ के मौके पर अध्यापकों ने आज़ादी के बारे में विद्यार्थियों को बताया. इस मौके पर स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में भी जानकारी दी गई. सराय स्थिति मदरसा इशाअतुल उलूम में छात्राओं ने सारे जहां से अच्छा तराना गाया. इस मौके पर मदरसे के शिक्षक ने  बताया कि वो हर साल की तरह इस साल भी स्वतंत्रता दिवस को अपने मदरसे में मना रहे है.

उनका कहना है कि सरकार के जो भी दिशा निर्देश है उनका पालन किया जा रहा है. इस मौके पर कार्यक्रम की समाप्ति के बाद सभी बच्चो को मिष्ठान वितरण किया गया. तलाक़ पीड़ित महिलाओं ने ध्वजारोहण किया और एक दूसरे को गले मिलकर और मिठाई खिलाकर आज़ादी का जश्न मनाया.

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन और मेरा हक़ फाउंडेशन के अध्यक्ष ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि भले ही देश आजाद हो गया था लेकिन मुस्लिम महिलाओं को आज़ादी नही मिल सकी थी क्योंकि उन्हें उनका शौहर छोटी छोटी बातों पर तीन बार तलाक़ बोलकर अपनी पत्नी को हमेशा के लिए बेगाना कर देता था. लेकिन मोदी जी ने हमे इस ट्रिपल तलाक़ से आज़ादी दिलवाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here