आतंकियों संग पकड़े गए DSP को मिल चुका राष्ट्रपति पदक, संसद हमले में भी उछला था नाम

0
7

श्रीनगर: जम्मू और कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल विजय कुमार ने कहा है कि दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार हुए डीएसपी देविंदर सिंह के साथ भी आतंकवादी रूप में व्यवहार किया जाएगा. सिंह को शनिवार को पुलिस ने दो आतंवादियों के साथ गिरफ्तार किया था. उस वाहन में पांच ग्रेनेड थे और बाद में सिंह के घर की तलाशी में दो एके-47 राइफल भी मिले थे. सिंह ने राज्य पुलिस के कई बड़े पदों पर काम किया है.

आरोप है कि श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात डीएसपी देविंदर इन आतंकियों को कश्मीर घाटी से बाहर निकालने की फिराक में था. इसी वजह से कार सवार दोनों आतंकियों का थोड़ा-बहुत हूलिया भी बदलवाया गया था.

राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित
डीएसपी देविंदर सिंह को पिछले साल 15 अगस्त पर राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया था. उसे आउट ऑफ टर्न प्रमोशन देकर इंस्पेक्टर से डीएसपी बनाया गया था. बाद में फिरौती मांगने की शिकायत पर निलिंबित कर दिया था. हालांकि, जांच के बाद बहाल करके श्रीनगर कंट्रोल रूम में तैनात कर दिया था. जिसके कुछ दिन बाद उसकी श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनाती की गई थी.


कश्मीर घाटी का जायजा लेने पहुंचे विदेशी प्रतिनिधियों के पीछे एयरपोर्ट पर खड़ा डीएसपी देविंदर सिंह.

संसद हमले में भी उछला था नाम
साल 2001 में संसद भवन पर हुए हमले में भी डीएसपी देविंदर सिंह का नाम उछला था. हमले के मास्टरमाइंड अफजल गुरु के घरवालों ने इस मामले का खुलासा किया था. हालांकि, आईजी विजय कुमार ने कहा कि पुलिस के पास संसद हमले के दोषी अफजल गुरु के मामले में उसकी (देविंदर सिंह) संलिप्तता का कोई रिकॉर्ड नहीं है.


जम्मू-कश्मीर के इंस्पेक्टर जनरल विजय कुमार ने डीएसपी देविंदर सिंह को लेकर प्रेस में जानकारी दी.

आतंकियों जैसा सुलूक करेंगे
आईजी के अनुसार, ”हम डीएसपी देविंदर सिंह की संलिप्तता को जघन्य अपराध मानते हैं और उनके साथ उसी तरह की कार्रवाई होगी जो अन्य आतंकवादियों के साथ होती है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here