आज का पत्थरबाज कल का आतंकी, माता-पिता को बच्चों का ध्यान रखना चाहिए: जीओसी

    0
    65

    अमृतपाल सिंह बाली, श्रीनगर Updated Sat, 03 Aug 2019 12:27 AM IST

    ख़बर सुनें

    घाटी में सेना की 15वीं कोर के कमांडर केजेएस ढिल्लों ने कहा कि आज का पत्थरबाज कल का आतंकी है। स्थानीय आतंकियों में से 83 प्रतिशत पहले पत्थरबाज थे। उन्होंने अभिभावकों से बच्चों पर खास ध्यान देने की अपील करते हुए कहा कि अगर आपका बच्चा 500 रुपये के लिए सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी करता है तो वह कल का आतंकी है। माता-पिता को अपने बच्चों का ख्याल रखना चाहिए। अगर वह उन्हें पत्थरबाजी करने से नहीं रोकते हैं तो यह कहना गलत नहीं होगा कि उसे आतंकी बनने के एक साल के भीतर ही मार गिराया जाएगा।

    विज्ञापन

    लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लों ने कहा कि हमने कश्मीर में आतंकवाद का विश्लेषण किया है। कश्मीर का युवा जो बंदूक उठाकर आतंकी बनता है उनमें से 83 प्रतिशत आतंकियों का पत्थरबाजी का पुराना ट्रैक रिकॉर्ड है। वर्ष 2019 में 7 प्रतिशत ऐसे आतंकी थे जिन्हें आतंकवाद में शामिल होने के 10 दिनों के भीतर मार दिया गया।

    कहा कि नौ प्रतिशत ऐसे थे जिन्हें आतंकवाद में शामिल होने के एक महीने के भीतर मार गिराया गया। 17 प्रतिशत पहले तीन महीने, 36 प्रतिशत छह महीने और शेष ऐसे आतंकी थे जिन्हें आतंकवाद में शामिल होने के एक साल के भीतर मार गिराया गया। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि एक स्थानीय आतंकी की जीवन कितनी है।

    विज्ञापन
    आगे पढ़ें

    अब जो आतंकी लीडरशिप जिंदा है उसकी संख्या बहुत कम है

    विज्ञापन

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here